Coronavirus In Hindi – कोरोना वायरस कैसे फ़ैल रही है ?

Coronavirus In Hindi

Coronavirus In Hindi : कोरोना वायरस एक तरह का सामान्य वायरस है जो आपकी नाक, साइनस या ऊपरी गले में संक्रमण का कारण बनता है। अधिकांश Coronavirus खतरनाक नहीं हैं।

Coronavirus In Hindi 

कोरोना वायरस का शुरुआत कब हुई ?

1960 के दशक में कोरोना वायरस की पहली पहचान की गई थी, लेकिन अभी तक Coronavirus का पता नहीं चल पाया है  कि वे कहां से आते हैं। अपने मुकुट जैसी आकृति से Coronavirus की शुरुआत होती है । कोरोना वायरस जानवरों और मनुष्यों दोनों को संक्रमित कर सकता है।

कोरोना वायरस कैसे फैलता है ?

अधिकांश कोरोना वायरस उसी तरह से फैलते हैं जैसे अन्य सर्दी पैदा करने वाले वायरस करते हैं : संक्रमित लोगों द्वारा खाँसने और छींकने के माध्यम से, किसी संक्रमित व्यक्ति के हाथों या चेहरे को छूने से, या डॉकनोर्बस जैसी चीजों को छूने से जो संक्रमित लोगों ने छुआ है।

अधिकांश कोरोना वायरस के लक्षण ऊपरी श्वसन संक्रमण के समान होते हैं, जिसमें बहती नाक, खांसी, गले में खराश और कभी-कभी बुखार भी शामिल है। ज्यादातर मामलों में, आपको पता नहीं चलेगा कि आपको कोरोना वायरस या कोई अलग सर्दी पैदा करने वाला वायरस है, जैसे कि कोरोना वायरस।

चीन में कब देखा गया कोरोना वायरस ?

इस वायरस का संक्रमण दिसंबर में चीन के वुहान में शुरू हुआ था. डब्लूएचओ के मुताबिक, बुखार, खांसी, सांस लेने में तकलीफ इसके लक्षण हैं. अब तक इस वायरस को फैलने से रोकने वाला कोई टीका नहीं बना है.

कितने देखो में फ़ैल रहा कोरोना वायरस ?

चीन के अलावा, थाइलैंड में सात मामले, जापान में तीन, दक्षिण कोरिया में तीन, अमेरिका में तीन, वियतनाम में दो, सिंगापुर में चार, मलेशिया में तीन, नेपाल में एक, फ्रांस में तीन, ऑस्ट्रेलिया में चार और श्रीलंका में कोरोना वायरस का एक मामला सामने आया है.

कितना खतरनाक है ये वायरस?

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने अभी तक कोरोना वायरस को हेल्थ इमरजेंसी के तौर पर घोषित नहीं किया है। विशेषज्ञों का कहना है कि इस वायरस की चपेट में आने के बाद लापरवाही जानलेवा हो सकती है। इस वायरस का पता आसानी से लगाया जा सकता है। सांस लेने में तकलीफ़, खांसी या फिर जुकाम, बुखार, सिर में दर्द और मांसपेशियों में दर्द हो तो नजरंदाज न करें, बल्कि तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।

क्या हैं इससे बचाव के उपाय ?

Health Ministry ने कोरोना वायरस से बचने के लिए दिशानिर्देश जारी किए हैं. इनके मुताबिक, हाथों को साबुन से धोना चाहिए. अल्‍कोहल आधारित हैंड रब का इस्‍तेमाल भी किया जा सकता है. खांसते और छीकते समय नाक और मुंह रूमाल या टिश्‍यू पेपर से ढककर रखें. जिन व्‍यक्तियों में कोल्‍ड और फ्लू के लक्षण हों उनसे दूरी बनाकर रखें. अंडे और मांस के सेवन से बचें. जंगली जानवरों के संपर्क में आने से बचें. More

Leave a Comment